loading...

हाल ही में ग्वालियर में एक ऐसा मामला सामने आया जिसने हैरान कर दिया।एक नर्स रोजाना अपने पति से मार खाती रही और इतना ही नहीं वह पति उसे मारने के बाद उसकी सैलरी भी हथिया लेता था। यह महिला सरकारी हॉस्पिटल में काम करती थी। वहां पर यह नर्स थी। इसने इस बात का आरोप लगाया है कि उसका पति उसे रोज पीटता था। पीटने के बाद जबरन संबंध भी बनाता था। वह इतना चिल्लाती थी,चीखती थी कि मुझे छोड़ दो मुझे दर्द हो रहा है परंतु उसका पति इतना हैवान था कि उसे उसकी चीख सुनाई नहीं देती थी। उसे मारने पीटने के बाद वह उसकी सैलरी भी ले लेता था।

उसका पति उसे मारता तो था ही परंतु उसके सब्र का बांध तब टूट गया जब उसके पति ने कहा कि वह इस घर मे तब रह सकती है जब 21 लाख रुपए का दहेज अपने मायके वालों से लेकर आएगी। उस समय इस नर्स का धीरज टूट गया और उसने तय कर लिया कि वह पुलिस थाने में जाकर इसके खिलाफ FIR करवाएगी। उसने अपने बेटे को साथ में लिया और पुलिस थाने में गई और पुलिस से विनती की थी, वो उसके पति से उसका तलाक करवा दे।

loading...

अब आपको बताते हैं कि पूरा मामला कैसे शुरू हुआ। ग्वालियर के सरकारी हॉस्पिटल का नाम जयारोग्य है। वहां पर काम करती है इसका नाम अपूर्वा सिंह है। आज से 4 साल पहले अपूर्वा सिंह की शादी दतिया के सांवली गांव में रहने वाले हरेंद्र सिंह चौहान के साथ संपन्न हुई थी। शादी के 2 साल तक सब कुछ ठीक चल रहा था और ऐसे में हम दोनों को एक बेटा भी हुआ। परंतु धीरे-धीरे उसके पति ने हैवानियत की हद पार करनी शुरू कर दी और उसे मारना शुरू कर दिया।दिया।

जैसे ही अपूर्व महीने के आखिरी में अपनी सैलरी लेकर घर आती थी, तो वह से पहले पीटता था। और उसकी सारी सैलरी लेता था। जहां तक उसकी हैवानियत खत्म नहीं हुई बल्कि उसने देखा कि उसकी पत्नी पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। तो उसने उसे धमकी दी कि पहले 2100000 मायके से लेकर आए। उसके बाद इस घर में रह सकती है। जब उसने दहेज लाने से मना कर दिया तो उसके पति ने उसे बहुत बुरी तरह पीटा।
इस समय इस नर्स का धीरज टूट गया, और इस संबंध में FIR दर्ज करवाने के लिये पुलिस थाने गई वहां यह आग्रह करने के साथ यह कहा कि हमारा इस आदमी से तलाक करवा दें ताकि मै और मेरा बेटा चैन से रह पाए, क्योंकि यह बहुत बदसलूकी से पेश आता है इस लिये मै इसके साथ नही रह सकती।

loading...