मेरे खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों को जेल में डाला जाए तो खाली हो जाएंगे सभी न्यूज चैनल’: राहुल गांधी

मेरे खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों को जेल में डाला जाए तो खाली हो जाएंगे सभी न्यूज चैनल’: राहुल गांधी

loading...

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस पर तंज कसा है. मंगलवार को उन्होंने ट्वीट किया कि अगर इस तरह उनके खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों पर एक्शन शुरू हुआ तो मीडिया हाउस में स्टाफ की कमी पड़ जाएगी.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सोशल मीडिया पोस्ट लिखने वाले पत्रकार की गिरफ्तारी पर बवाल मचा हुआ है. ये मामला अब राजनीतिक तूल पकड़ता जा रहा है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस पर तंज कसा है. मंगलवार को उन्होंने ट्वीट किया कि अगर इस तरह उनके खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों पर एक्शन शुरू हुआ तो मीडिया हाउस में स्टाफ की कमी पड़ जाएगी.

कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट किया, ‘अगर हर पत्रकार जो मेरे खिलाफ फर्जी आरोप लगाकर, RSS/BJP का प्रायोजित एजेंडा चलाते हैं, अगर उन्हें जेल में डाल दिया गया तो न्यूज़पेपर और न्यूज़ चैनलों में स्टाफ की कमी पड़ जाएगी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मूर्खतापूर्ण रवैया अपना रहे हैं, गिरफ्तार किए गए पत्रकारों को तुरंत रिहा करने की जरूरत है.’

If every journalist who files a false report or peddles fake, vicious RSS/BJP sponsored propaganda about me is put in jail, most newspapers/ news channels would face a severe staff shortage.

The UP CM is behaving foolishly & needs to release the arrested journalists. https://t.co/KtHXUXbgKS

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) June 11, 2019

आपको बता दें कि यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखने वाले पत्रकार प्रशांत कनौजिया को उत्तर प्रदेश की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. जिसका काफी विरोध किया जा रहा है, कई संगठन और पत्रकार लगातार योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं और पत्रकार की रिहाई की मांग कर रहे हैं. यही मसला अब राजनीतिक रूप ले चुका है.
इतना ही नहीं, पत्रकार की गिरफ्तारी के बाद योगी आदित्यनाथ के गृह जिले गोरखपुर से भी दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

loading...

गोरखपुर के पीर मोहम्मद और धर्मेंद्र भारती ने भी सीएम योगी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट लिखा था. पत्रकार की गिरफ्तारी का मामला तो देश की सर्वोच्च अदालत यानी सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है, जिसपर मंगलवार को ही सुनवाई होनी है. यूपी में ना सिर्फ पत्रकार और आम व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया. बल्कि योगी आदित्यनाथ पर लगे आरोपों को लेकर ही एक न्यूज़ चैनल ने डिबेट करवाई जो भारी साबित हुई. यूपी पुलिस ने न्यूज़ चैनल के हेड और संपादक को भी गिरफ्तार कर लिया गया था.

Please follow and like us:
error0
loading...

Leave a Comment